Published On: Sat, Jul 31st, 2021

Political news: गैर दलित वोटरों में सेंधमारी को BSP ने बढ़ाई सक्रियता, 1 अगस्त को आगरा में प्रबुद्ध सम्मेलन

आगरा
विधानसभा चुनाव 2012 में अपने खोए हुए ताज को वापस पाने के लिए बीएसपी (BSP) जद्दोजहद में जुट गई है। यही वजह है कि बीएसपी ने अपनी भाईचारा कमेटी को सक्रिय कर दिया है, ताकि गैर दलित वोटरों में सेंधमारी की जा सके। पार्टी ने ब्राह्मण वोटरों को लुभाने के लिए प्रबुद्ध सम्मेलन भी शुरू किया है, जोकि आगरा में एक अगस्त को होने वाला है।

कार्यक्रम में बीएसपी के राष्ट्रीय महासचिव सतीश मिश्रा शिरकत करेंगे। अपने लुभावने वायदों से ब्राह्मण वोटरों को लुभाने का प्रयास करेंगे। 23 जुलाई से शुरू हुए प्रबुद्ध सम्मेलन में सतीश मिश्रा ने कई ऐसी बयानबाजी की हैं, जिसको लेकर विपक्षी दलों ने आपत्ति भी जताई है।

आरबीएस कॉलेज खंदारी में होगा आयोजन
एक अगस्त को खंदारी स्थित आरबीएस कॉलेज के राव कृष्ण पाल सिंह ऑडिटोरियम में बीएसपी का प्रबुद्धजन सम्मेलन होगा। बीएसपी के कार्यकर्ता पूरी तरह से आयोजन को सफल बनाने में जुट गए हैं। शहर में जगह-जगह होर्डिंग्स, बैनर और बीएसपी के झंडे सजने लगे हैं। पार्टी कार्यकर्ताओं का कहना है कि आयोजन में सैकड़ों लोगों की भीड़ जुटाने की कवायद चल रही है। भीड़ जुटाने के लिए आगरा की सभी नौ विधानसभा क्षेत्रों से कार्यकर्ताओं को बुलाया गया है। खास तौर पर उन विधानसभा सीटों से लोग एकत्रित किए गए हैं, जहां अधिक संख्या में ब्राह्मण वोटर हैं। इसमें फतेहपुर सीकरी, बाह, खेरागढ़ आदि विधानसभास क्षेत्र शामिल हैं।

सोशल इंजीनियरिंग फॉर्मूले से लुभाए जाएंगे वोटर
बीएसपी अपनी 2007 की सरकार की नीतियों और लॉ इन ऑर्डर पर चर्चा कर रही है। पूर्व सांसद और बीएसपी के वरिष्ठ नेता मुनकाद अली ने आगरा में कहा था कि 2007 की बीएसपी सरकार में एक भी दंगा नहीं हुआ। सब लोग भाईचारे के साथ एक-दूसरे का सम्मान करते थे। आज की सरकार में लोग एक-दूसरे को हिंदू और मुस्लिम के नजरिए से देखते हैं। भाईचारा कमेटी के कार्यकर्ता बूथ स्तर पर जाकर लोगों के बीच बीएसपी की नीतियों पर मंथन कर उन्हें लुभाने का प्रयास कर रहे हैं।

समाजसेवियों पर डाले जा रहे डोरे
सम्मेलन में ब्राह्मण समाज के प्रबुद्धजनों को जुटाने का प्रयास किया जा रहा है। पार्टी सूत्रों की मानें तो ऐसे बड़े समाजसेवियों की तलाश की जा रही है, जोकि सत्ता पक्ष से खिन्न हैं। साथ ही उन्हीं नेताओं पर भी डोरे डाले जा रहे हैं, जो दल बदलने की फिराक में हैं। सूत्रों की मानें तो इसकी एक सूची भी बनाई जा रही है। इन्हें ब्राह्मण बाहुल क्षेत्रों से टिकट दिलाने का प्रलोभन भी दिया जा रहा है।

Source link

About the Author

-

Leave a comment

XHTML: You can use these html tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>